गुरुवार, 1 अप्रैल 2021

Prabhat

जल प्रदूषण : कारण, प्रभाव और समाधान | Water Pollution in Hindi

 जल प्रदूषण | Water Pollution in Hindi, Causes, Effects and Solutions

जल हमारे जीवन के लिए बहुत ही ज्यादा जरुरी है और इसके बिना हम जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते | मित्रों, आज के इस आर्टिकल " Water Pollution in Hindi " में हम आपको Jal pradushan kya hai  उसके कारण , प्रभाव तथा समाधान के बारे में बताएंगे | 

जल प्रदूषण क्या है ? | Water Pollution in Hindi 

मित्रों, अब हम आपको बताएंगे कि जल प्रदूषण क्या होता है ?



Water Pollution in Hindi
Water Pollution in Hindi



जब पानी में विषैले पदार्थ घुल जाते हैं या जल में पड़े रहते हैं तो वह परिणाम स्वरुप जल को दूषित कर देते हैं, यही Jal Pradushan कहलाता है | जल प्रदूषण की वजह से पानी की गुणवत्ता कम हो जाती है और वह इस्तेमाल के लायक भी नहीं रहता है |

जल प्रदूषण के कारण | Causes of Water Pollution in Hindi

Jal Pradushan के कई कारण हैं | अब मैं आपको एक एक करके जल प्रदूषण के कारण बताऊंगा |

1. नालियों के गंदे पानी को जल श्रोतों में गिराना 

मित्रों, Jal Pradushan का मुख्य कारण ये है कि हमारे घरों का जो गन्दा पानी होता है वह नाली में जाता है | फिर वह गन्दा पानी नाली के जरिये किसी न किसी जल स्रोत में गिर जाता है जैसे कि कोई नदी या तालाब आदि | फिर यह गन्दा पानी हमारे तालाब तथा नदियों के जल को प्रदूषित कर देता है और इस तरह जल प्रदूषण होने लगता है |

2. फैक्ट्री के बेकार पदार्थों को नदियों और तालाबों में बहाना 

दूसरा जो मुख्य कारण है Jal Pradushan का वह है फैक्ट्री के बेकार पदार्थों एवं रसायनों को नदी, तालाब आदि में बहाना | मित्रों ज्यादातर फैक्ट्री का जो कचरा होता है उसे जल स्रोतों में डाल दिया जाता है और फिर यह कचरा जल को प्रदूषित कर देता है |

3. औद्योगीकरण 

औद्योगीकरण भी Jal Pradushan का बहुत बड़ा कारण है क्योंकि जैसे जैसे औद्योगीकरण बढ़ता जा रहा है वैसे वैसे उनसे निकलने वाले कचरे को जल स्रोत में डाल दिया जाता है और फिर जल प्रदूषण होता है |

4. जनसँख्या में वृद्धि 

जनसँख्या वृद्धि भी जल प्रदूषण का एक कारण है क्योंकि जैसे जैसे जनसँख्या बढ़ रही है वैसे वैसे घरों में रासयनिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है और उससे निकलने वाला पानी जल स्रोत में जाकर जल को प्रदूषित कर देता है |

5. जल का हद से ज्यादा इस्तेमाल 

आज कल लोग जल का हद से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं जब काम थोड़े में चल सकता है फिर भी लोग जल अधिक बर्बाद करते हैं | आपने अक्सर तालाब या नदी किनारे देखा होगा कि लोग वहां पर जानवरों को नहलाते हैं और कपड़े आदि भी वहां पर धोते हैं | फिर उससे निकलने वाला जो गन्दा पानी होते है वो फिर उसी नदी या तालाब में बहा देते हैं | इससे भी जल प्रदूषण बढ़ता है | हम लोग थोड़े पानी में भी जानवर आदि को नेहला सकते हैं और कपड़े धुल सकते हैं फिर इस तरह जल बर्बाद करना और जल को प्रदूषित करना कहाँ तक ठीक है | आप लोग कमेंट करके बताइये |

6. petroleum आदि पदार्थों का रिसाव होना 

पेट्रोलियम आदि पदर्थों का रिसाव भी एक कारण है जल प्रदूषण का क्योंकि पेट्रोलियम जैसे पदार्थों का जब रिसाव होता है तो वह रिस रिस कर जमीन के अंदर के पानी को प्रदूषित कर देते हैं |

7. कृषि बहिस्राव 

खेती में उर्वरकों, कीटनाशकों तथा pesticide आदि का इस्तेमाल भी जल प्रदूषण को बढ़ाता है क्योंकि जब हम लोग खेतों में कीटनाशकों तथा उर्वरकों का इस्तेमाल करते हैं तो फिर खेत में जो पानी लगाया जाता है उनमे ये उर्वरक मिल जाते हैं और ये पानी रिस रिस कर नीचे चला जाता है और जमीन के पानी को प्रदूषित कर देता है |

8. सामाजिक और धार्मिक रीती रिवाज 

हमारे भारत में सामाजिक और धार्मिक रीती रिवाज भी जल प्रदूषण का बहुत बड़ा कारण है क्योंकि लोग रीती रिवाज के नाम पर गंगा जैसी पवित्र नदियों में काफी चीजें डाल देते हैं जो कि गंगा नदी के जल को प्रदूषित कर देती हैं | 

9. घर पर हानिकारक रसायन का प्रयोग 

हम लोग घर पर काफी तरह के रसायन का प्रयोग करते हैं जो कि हमारे जल को प्रदूषित करने के लिए जिम्मेदार होता हैं | 

जल प्रदूषण का प्रभाव | Effect of Water pollution in Hindi

मित्रों अब हम आपको Jal Pradushan से क्या प्रभाव अर्थात क्या असर पड़ता है ये बताएंगे |

1. मानव स्वास्थ्य पर प्रभाव 

Jal Pradushan का असर मानव स्वास्थ्य पर काफी ज्यादा पड़ता है | प्रदूषित जल पीने से कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं | प्रदूषित जल का इस्तेमाल अगर हम लोग नहाने के लिए करें तो फिर हमारे शरीर पर इससे काफी ज्यादा दिक्कत हो सकती हैं | जल प्रदूषण मानव स्वास्थ्य के लिए भीत हानिकारक है और इससे काफी बीमारियां हो सकती हैं |

2. जलीय जीव को हानि 

Jal Pradushan की वजह से जल में रहने वाले जीवों पर भी काफी असर पड़ता है | समुद्र में तो कई प्रजातियां जल प्रदूषण की वजह से विलुप्त होने की कगार पर हैं |

3. फसलों को क्षति

Jal Pradushan का असर हमारे खेतों में होने वाली फसलों पर भी पड़ता है |

4. एसिडिक बारिश 

कभी कभी तो Jal Pradushan एसिडिक बारिश का भी कारण बन जाता है जो कि बहुत ज्यादा खतरनाक है |

5. कृषि भूमि पर असर 

Jal Pradushan की वजह से हमारे उपजाऊ कृषि भूमि भी बेकार हो जाती है | 


जल प्रदूषण का समाधान | Solution of Water pollution in Hindi


मित्रों Jal Pradushan की समस्या को पूरी तरह से ख़त्म करने के लिए हमें कड़े से कड़े कदम उठाने होंगे | 

1. जल प्रदूषण को ख़त्म करने के लिए हमें हमें अपने घरों में रासायनिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल बंद करना होगा |

2. खेती में कीटनाशकों आदि का प्रयोग बंद करना होगा |

3. हम लोगों को प्लास्टिक का प्रयोग कम से कम करना होगा क्यूंकि यह प्लास्टिक समुद्र आदि में काफी ज्यादा जल प्रदूषित कर देती है और प्लास्टिक रीसायकल पर ध्यान देना होगा |. 

4. हम सबको समय समय पर नदी नालों आदि की सफाई करते रहना होगा |

5. फैक्ट्री आदि से निकलने वाले ख़राब पदार्थ को नदी नाला या तालाब में नहीं बहाना है बल्कि उस ख़राब को भी रीसायकल करने पर ध्यान देना होगा |

६. किसी भी तरह का कचरा नदी, नाला, तालाब , या समुद्र में नहीं फेकना चाहिए |

७. सामाजिक और धार्मिक रीती रिवाज के नाम पर जो चीजें हम गंगा आदि नदियों में बहाते हैं उसे भी बंद करना होगा |

निष्कर्ष ( Water Pollution in Hindi )

मित्रों आशा करता हूँ कि आपको हमारे ये आर्टिकल Water Pollution in Hindi पसंद आया है और  जल प्रदूषण के बारे में काफी जानकारी हो गयी होगी | यदि आपके मन में हमारे इस आर्टिकल Jal pradushan kya hai के  बारे में कोई सुझाव या कोई प्रश्न है तो फिर आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं |

धन्यवाद 

ये भी पढ़ें :-