PR technical

PR  technical

Monday, June 22, 2020

Prabhat

Why Indian Mobile Companies Failed? | भारत में भारतीय मोबाइल कंपनी फेल क्यों हुई ?


Why Indian Mobile Companies Failed in india? | भारत में भारतीय मोबाइल कंपनी फेल क्यों हुई ?


हेलो दोस्तों आज के इस टॉपिक में हम बात करेंगे कि इंडिया में इंडियन स्मार्टफोन brand क्यों फेल हुए | एक समय था जब इंडियन स्मार्टफोन काफी ज्यादा उठे थे | मार्केट में Micromax, Lava, Karbonn, Spice इन सभी ने काफी अच्छा मार्केट कवर किया हुआ था | पहले और तो और सन 2014 में Micromax ने Samsung को तक पीछे छोड़ दिया था फिर आखिर ऐसा हुआ क्या जिससे कि आज के समय में यह इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड मार्केट में दिखाई ही नहीं पड़ते दोस्तों आज के इस आर्टिकल आप को यही बताएंगे कि इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड फेल क्यों हुए और मार्केट में क्यों नहीं दिखाई दे रहे हैं |

दोस्तों बात शुरू होती है 2010 और 2011 से जब हमारे इंडिया में Androis mobile आना स्टार्ट हो गए थे उस समय इंडिया में कुछ कंपनी थी जो कि एंड्राइड पर डील कर रही थी जैसे कि Samsung, Sony, HTC, LG और भी कुछ कंपनियां थी और बात यह है कि उस समय उनके जो स्मार्टफोन थे एंड्राइड के साथ, वह काफी महंगे हुआ करते थे मतलब 10000 से नीचे का तो कोई फोन ही नहीं था | जैसा कि आप सब जानते हैं कि हमारे इंडिया में लोग कम प्राइस में ज्यादा चीजें ढूंढते हैं और price पर बहुत ज्यादा ध्यान देते हैं  |

Why Indian Mobile Companies Failed, why indian mobile brand fail in india
Why Indian Mobile Companies Failed?


Why Indian Mobile Companies Failed?


उस समय Indian mobile brand  ने इस बात पर ध्यान दिया तो इसलिए Indian mobile company चाइना गयी  और वहां पर सस्ते mobile देखें और वहां से काफी mobile यूनिट इंडिया मंगवा ली फिर अपनी ब्रांडिंग और अपनी पैकेजिंग करके इंडिया के मार्केट में अपने smartphone ब्रांड उतार दिए | Indian Mobile company के पास अपनी कोई मैन्युफैक्चरिंग यूनिट नहीं थी ना ही इनके पास कोई अपना R&D डिपार्टमेंट था जब यह फोन इंडियंस मार्केट में आए तो यह Sansung, Sony, LG, HTC की तुलना में काफी सस्ते थे तो फिर लोगों को भी एक ऐसा ब्रांड मिल गया जो कि कम पैसों में काफी चीजें दे रहा है | इस तरह उस समय इंडियन स्मार्टफोन मार्केट में बढ़ते चले गए और यहां तक कि Micromax ने सन 2014 में सैमसंग को तक पीछे कर दिया इंडियन मार्केट में खैर यहां तक तो सब कुछ ठीक चल रहा था

दोस्तों उस समय माइक्रोमैक्स और भी दूसरे इंडियन ब्रांड काफी अच्छे चल रहे थे और लोग भी अपने फीचर फोन से अपने आप को upgrade कर के स्मार्टफोन पर आ रहे थे | उस समय इंडियन स्मार्टफोन मार्केट में काफी अच्छा चल रहे थे लोग भी सोच रहे थे कि इतने महंगे Samsung, sony, LG, HTC क्यों लें और फिर वह इंडियन स्मार्टफोन की तरफ आ गए इस तरह उस समय इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड काफी अच्छे मार्केट में चल रहे थे |


Why Indian Mobile Companies Failed?


फिर उसके बाद 2014 आते-आते फिर Xiaomi और one plus इंडियन मार्केट में आ गए |  जो चीजें यह सोनी one plus ऑफर कर  रहे थे इंडियन स्मार्टफोन के पास वो  नहीं था और फिर जब तक samsung ने भी  सस्ते फोन निकालना स्टार्ट कर दिया | Xiaomi , OnePlus इन कंपनियों ने तो सस्ती रेंज में ही काफी कुछ देना  स्टार्ट कर दिया जो इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड के पास नहीं था |  दोस्तों उस समय ऑनलाइन का भी टाइम आ गया उस समय ऑनलाइन मैं तो इंडियन ब्रांड इन्हें टक्कर नहीं दे पा रहे थे  इन ब्रांड को, क्योंकि यह ब्रांड  काफी कुछ देने लगे थे उसी प्राइस रेंज में यह सभी ऑनलाइन में काफी  सस्ता पड़ जाता था |

 तो इस तरह इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड online market में इतना अच्छा काम नहीं कर पाए लेकिन ऑफलाइन मार्केट में फिर भी यह चल रहे थे फिर उसके बाद दोस्तों मार्केट में आ गए oppoऔर Vivoऔर फिर जब oppo और vivo स्टार्टिंग में आए थे पहले तो यह कुछ खास नहीं दे रहे थे | लेकिन oppo और vivo ने ऐसी ब्रांडिंग की हर गली हर मोहल्ले में अपनी ब्रांडिंग कर डाली और फिर उसके बाद पहले तो यह खास नहीं दे रहे थे लेकिन उसके बाद ही अपने आप को अपडेट कर दिया  और नए नए फीचर्स उसी प्राइस रेंज में देते गए |

लेकिन इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड कुछ नया नहीं दे पा रहे थे इस तरह यह धीरे-धीरे ऑफलाइन मार्केट से भी गायब होते जा रहे थे ,  फिर भी माइक्रोमैक्स ने बीच में उठने की कोशिश की थी  कुछ नए स्मार्टफोन निकाले थे लेकिन वह कुछ खास नहीं है इस तरह इंडियन स्मार्टफोन इंडियन मार्केट में पीछे होते चले गए इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड के पीछे होने के kaafi कारण है इन्होंने समय के हिसाब से अपने आप को अपग्रेड नहीं किया और profit पर ज्यादा ध्यान दिया और  इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड कस्टमर की जरूरत को भी नहीं समझ पायी |

Why Indian Mobile Companies Failed?






अब दूसरी तरफ देख लीजिए उसके बाद आया realme जो कि प्रॉफिट पर ज्यादा ध्यान ना दे कर के कस्टमर की जरूरत पर ज्यादा ध्यान देता है Realme तो और भी सस्ते में काफी चीजें निकालने लगा फिर इसी तरह कस्टमर की जरूरत को इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड ने समझा नहीं फिर इस तरह धीरे-धीरे मार्केट में दिखाई देना कम हो गया

हेलो दोस्तों अब आज के समय में यह सवाल आता है कि क्या फिर से इंडियन स्मार्टफोन ब्रांड मार्केट में आ सकते हैं जी हां आ सकते हैं लेकिन इन्हे  कस्टमर की जरूरत का ध्यान रखना पड़ेगा कस्टमर का feedback भी लेना पड़ेगा के कस्टमर की जरूरत क्या है वह चाहता क्या है |

 अभी तो इंडियन स्मार्टफोन मार्केट अभी और भी ज्यादा उठेगा क्योंकि इंडिया में अभी काफी लोग ऐसे हैं जो कि अभी फीचर फोन चला रहे हैं और वह अपने आप को स्मार्ट फोन लेना  चाहते हैं अगर उन्हें अच्छे फीचर्स और अच्छे प्राइस में मिलेंगे तो वह जरूर  Indian mobile prefer करेंगे


यह भी पढ़ें 

Non chinese mobile brands 

लैपटॉप खरीदते वक़्त इन बातों का ध्यान रखें 

Prabhat

About Prabhat -

Author Description here.

Subscribe to this Blog via Email :