Monday, July 8, 2019

Virtual Reality क्या है और VR Box क्या है ?

हेलो दोस्तों आज मैं आपको बहुत ही interesting जानकारी देने जा रहा हूँ  उम्मीद करता हूँ कि आपको पसंद आएगी । दोस्तों क्या आपने कभी वर्चुअल रियलिटी (virtual reality) के बारे में सुना है ?  अगर सुना है तो अच्छी बात है अगर नहीं सुना है तो कोई बात नहीं आज हम आपको विरुअल virtual reality के बारे में सबकुछ बताएंगे । इसके साथ साथ हम आपको VR Box के बारे में भी बताएँगे ।

Virtual Reality क्या है ?
Virtual Reality एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसकी  मदद से हम एक ऐसा आर्टिफीसियल एनवायरनमेंट(artificial environment) तैयार कर लेते हैं जो कि हमें रियल लगता है और हमें ऐसा फील होता है कि हम भी उसी में हैं । जैसे कि हम जब भी कोई 3D मूवी देखते हैं तो हमें ऐसा फील होता है कि हम भी उसी में हैं और हमें सब कुछ रियल लगता है । Virtual Reality का इस्तेमाल हाई विज़ुअल मल्टीमीडिया (High Visual Multimedia ) से सम्बंधित application के लिए किया जाता है वो भी 3D एनवायरनमेंट में ।

अगर आसान शब्दों में कहें तो Virtual reality एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसका  इस्तेमाल एक ऐसी काल्पनिक दुनिया को बनाने के लिए किया जाता है जिसमे कि आपको ऐसा लगता है कि आप भी उसी दुनिया में हो ।

VR Box क्या है ? 
VR Box की सहायता से आप अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल करके आप अपने घर पर ही बिलकुल सिनेमा हॉल जैसा मजा ले सकते हैं । इस VR Box में मोबाइल को कनेक्ट करने के लिए पोर्ट बना होता है हमें उस पोर्ट में मोबाइल को लगाना होता है । अच्छे sound के लिए आप अपने हैडफ़ोन का इस्तेमाल कर सकते हैं । फिर आप अपने घर पर वर्चुअल रियलिटी (Virtual reality )का मजा ले सकते हैं ।


VR Box

वर्चुअल रियलिटी (virtual reality) के use

वर्चुअल रियलिटी (virtual reality) का इस्तेमाल आजकल हम बहुत fields में कर रहे हैं जैसे कि -

1.  Games and Entertainment में दोस्तों आजकल काफी ऐसे गेम्स हैं जिसमे वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी का use होता है जब भी हम उस तरह के गेम्स खेलते हैं तो हमें ऐसा लगता है कि हम भी उसी गेम में हैं । जैसे कि example ले लीजिये कार रेस गेम का अगर हम जब भी वर्चुअल रियलिटी वाला कार रेस गेम खेलते हैं तो हमें ऐसा लगता है कि हम उसी गेम का हिस्सा हैं ।
वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल मूवीज में भी किया जाता है जब भी हम कोई 3D मूवी देखते हैं तो हमें सब कुछ रियल जैसा लगने लगता है ।

2. Education - Virtual Reality का इस्तेमाल education की फील्ड में भी काफी होता है । Virtual Reality का इस्तेमाल करके काफी तरह की ट्रेनिंग दी जाती है जैसे कि अगर स्पेस में जो एस्ट्रोनॉट जाते हैं उनकी ट्रेनिंग वर्चुअल रियलिटी का use करके की जाती है । इसी तरह पैराशूट से कूदने कि ट्रेनिंग , जम्बो जेट को लैंड कराने की ट्रेनिंग इसी तरह और भी काफी तरह कि ट्रेनिंग हैं जो virtual reality का इस्तेमाल करके ट्रेनिंग दी जाती हैं ।

3.  Architecture Design - Architecture की field में भी Virtual Reality का काफी इस्तेमाल होता है आजकल के समय में गाड़ी का डिज़ाइन , एयरोप्लेन का डिज़ाइन और भी चीजों के डिज़ाइन हैं  जो कि Virtual Reality टेक्नोलॉजी की मदद से कंप्यूटर स्क्रीन पर डिज़ाइन बनाये जाते हैं ।

Types Of Virtual Reality 
वर्चुअल रियलिटी के कई प्रकार होते हैं -
1. Fully Impressive .
2. Non Impressive.
3. Collaborative.
4. Web Based.
5. Augmented Reality.

अब हम एक - एक करके सभी Virtual Reality types को explain करेंगे ।

1. Fully Impressive - अगर हम पूर्ण Virtual Experience लेना चाहते हैं तो हमें तीन चीजों की जरुरत पड़ती है । तो इसमें सबसे पहले आता है कंप्यूटर मॉडल या सिमुलेशन (Simulation) जो दूसरी चीज की जरुरत है वो है एक पावरफुल कंप्यूटर जिससे की बहुत आराम से यह पता चल सके की क्या हो रहा है और फिर जैसा जो चल रहा है रियल टाइम में फिर वैसा ही सब एडजस्ट कर सके । जो तीसरी चीज की हमें जरुरत होती है वो है हार्डवेयर की जो कंप्यूटर से जोड़ दिया गया हो जिससे की हम Virtual world में पूरी तरह खो जायें । इसमें हमें हेड माउंटेड डिस्प्ले (Head mounted display), २ स्क्रीन (screen) , स्टीरियो साउंड (Stereo Sound), और एक या उससे अधिक सेंसरी ग्लव्स (sensory gloves) भी पहनना होता है ।

2. Non Impressive. - सभी लोगो को fully  immersive  रियलिटी कि आवश्यकता नहीं होती है इसलिए इसमें रियलिटी पूरी तरह से immersive  नहीं होती है पर उसके आसपास तक होती है इसमें surround system , wide  स्क्रीन, हेडफोन्स और दूसरे कंट्रोल्स का इस्तेमाल होता है ।

3. Collaborative. - 
यह एक ऐसा एनवायरनमेंट है जहाँ कई लोग कई जगह से एक दूसरे के साथ कम्यूनिकेट कर सकते हैं यह लोग अपनी बातों को अपने अनुभव को एक co - operative सेटिंग के जरिये share करते हैं जिसे collaborative virtual कहते हैं ।

4. Web Based. - पहले के टाइम में वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी सबसे ज्यादा तरक्की करने वाली टेक्नोलॉजी थी यही कोई 1990  के टाइम के आसपास  पर  WWW (world wide web) के आने पर इसकी तरक्की धीमी हो गयी लेकिन computer scientist  ने वेब पर वर्चुअल दुनिया बनाने का तरीका ढूंढ लिया था पर वो ज्यादा चल नहीं सका ।

5. Augmented Reality. - Augmented Reality  का इस्तेमाल सब कुछ real type दिखाने के लिए होता है इसमें हम image , information  और साउंड को इस तरह एनवायरनमेंट में डिजिटल तरीके से मिलाते हैं कि सबकुछ रियल जैसा लगे । इसमें एक तरीके से ऐसा भ्रम पैदा कर देते हैं कि जिससे सब रियल लगे ।

दोस्तों अगर आप Virtual रियलिटी से जुड़ा कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं ।






Share on WhatsApp

No comments:

Post a Comment