PR technical

PR  technical

Friday, July 19, 2019

Prabhat

Save water in hindi | नहीं रहेगा जल तो क्या करोगे कल

Save water in hindi | नहीं रहेगा जल तो क्या करोगे कल


हेलो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपको केवल वर्तमान समय तथा भविष्य के समय के पानी के हालात के बारे में बता रहा हूँ कि अगर हम अभी भी पानी बचाने की तरफ ध्यान नहीं देंगे तो भविष्य में किन किन समस्याओं का सामना करना पड़ेगा ।
save water in hindi, save water essay
save water in hindi


दोस्तों एक बात सोचिये कि अगर हमारी पृथ्वी पर अगर पानी नहीं रहेगा  मेरा मतलब है कि जब हमारी पृथ्वी पर पानी ख़त्म हो जाएगा फिर क्या होगा । आपने कभी सोचा है कि पानी बिना हमारा क्या जीवन होगा सच तो यह है कि पानी बिना हमारा जीवन ही नहीं होगा । दोस्तों अगर आने वाले समय में पानी ख़त्म हो जाए तो आपको हैरान नहीं होना चाहिए  क्योंकि  जिस तरीके से आज के समय में पानी को हम बर्बाद कर रहे हैं और पानी बचाने पर ध्यान नहीं दे रहे हैं उससे तो ऐसा ही लगता है कि जल्द ही पानी ख़त्म हो जाएगा । क्योंकि दोस्तों हमारी पृथ्वी पर जो जल स्रोत हैं वो तो सीमित हैं पर हमारी पृथ्वी पर जनसँख्या हर साल बढ़ती जा रही है और पानी का इस्तेमाल भी बढ़ता जा रहा है पर जल स्रोत नहीं बढ़ रहे हैं । दोस्तों अगर आप ये कहेंगे कि हमारी पृथ्वी पर ७०% से अधिक पानी है वो तो बात सही है पर जो पानी हम इस्तेमाल करते हैं वो सीमित हैं । कुएं , नदियाँ, तालाब सूख रहे हैं । अब तो कहीं कहीं पर पानी को लेकर टकराव भी शुरू हो गया है । अगर हम अब भी जल बचाने पर ध्यान नहीं देंगे तो आगे चल कर धीरे धीरे हमारी धरती बंजर हो जायेगी ।


जिस तरीके से इंसान आज के समय में तरक्की करता जा रहा है वैसे वैसे इंसान प्राकृतिक चीजों को बर्बाद करता जा रहा है आज के समय में हमारे देश में ज्यादातर नदियां प्रदूषित हो चुकी हैं । अभी से ही देश के काफी शहरों में पानी की दिक्कत आने लगी है  जिनमे दिल्ली , मुंबई, कोलकाता , चेन्नई प्रमुख हैं । आज के समय में भूजल स्तर  भी काफी नीचे पहुँच चुका है अगर ऐसा ही चलता रहा तो भूजल भी ख़त्म हो जाएगा और फिर हमारा जीवन पर भी संकट आ जाएगा ।

दोस्तों अगर आप ये चाहते हैं कि हम अपने भविष्य को और बेहतर बनाये तो हमें आज से ही पानी को बचाने पर ध्यान देना पड़ेगा और हमें पानी को बर्बाद होने से बचाना होगा । हमें अपने नदी, तालाबों को प्रदूषित होने से बचाना होगा और उसमे गन्दगी नहीं करनी है । हमें बारिश के पानी को भी बचाना होगा जिससे कि पानी की समस्या का समाधान हो सके तभी हमारा कल बेहतर बनेगा । 

How we can save water ? | पानी कैसे बचायें ?


how to save water in hindi, save water
how to save water in hindi ?

हेलो दोस्तों, अब हम आपको पानी बचाने के तरीकों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जो इस प्रकार हैं इन तरीकों का इस्तेमाल करके हम काफी पानी बचा सकते हैं ।
  • हमें बरसात के पानी को इकट्ठा कर लेना चाहिए क्योंकि इस बरसात के पानी का इस्तेमाल हम बहुत कामो में कर सकते हैं जैसे की शौच के लिए, पौधों के लिए आदि । हम इन कामो में बरसात के पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं ।
  • हमें पानी को बेवजह बर्बाद नहीं करना चाहिए क्योंकि आपने देखा होगा की अक्सर काफी लोग अगर ब्रश करते हैं तो नल खोल देते हैं और जब शेविंग करते हैं तब भी नल खोल देते हैं । अब सोचिये की भारत की जनसंख्या कितनी है और सभी लोग अगर ये पानी ऐसे बहाएंगे तो कितना पानी बर्बाद हो जायेगा और फर इसी पानी को बचाएंगे तो कितना पानी बच जायेगा । इसीलिए जब भी हम ब्रश करें और शेविंग करें तो हमें न बंद कर देना चाहिए और जितनी जरुरत हो उतना ही पानी का इस्तेमाल करना चाहिए ।
  • हमें शावर में नहाने के बजाये मग से नहाना चाहिए क्योकि शावर में हम काफी पानी बर्बाद कर देते हैं हम लोग इस तरह भी पानी बचा सकते हैं ।
  • जब भी हम पानी से जुड़ा कोई भी काम कर ले तो हमें नल को सही से बंद कर  देना चाहिए जिससे कि आपने देखा होगा कि नल में से अक्सर बूँद बूँद करके पानी गिरता रहता है । अब अगर आपका कहना ये है कि बूँद बूँद पानी गिरने से क्या दिक्कत । एक बात आप सोचिये अगर पूरी इंडिया में अगर सभी के यहाँ अगर बूँद बूँद पानी अगर गिर रहा होगा तो इस तरह हम कितना पानी बर्बाद कर देंगे और हम इस बात पर ध्यान देंगे तो सोचिये कि हम बूँद बूँद करके कितना पानी बचा लेंगे ।
  • हमें पानी बचाने के लिए और लोगों को भी इस तरफ जागरूक करना चाहिए जिससे कि वो भी पानी की कीमत समझे और पानी बचाने में अपना योगदान दें । अगर हम सब मिलकर इस समस्या से निपटेंगे तो हम जल्द ही पानी की समस्या से निपट लेंगे ।
  • जब भी हमें सब्जी धोनी हो तो उसे नल के नीचे धोने के बजाये बर्तन में पानी लेकर धोना चाहिए । हम इस तरीके से भी काफी पानी बचा सकते हैं ।
अब केवल यही कहना चाहूंगा कि जल संरक्षण हमारे लिए काफी जरुरी है और हम सब को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी और अपना कर्त्तव्य निभाना होगा इसी से हमारा कल सुनहरा होगा ।




Read More
Prabhat

Ganga Pollution in hindi | जीवनदायिनी गंगा को कौन देगा जीवन ?

Ganga Pollution in hindi

हमारी जीवनदायिनी गंगा जिसे भागीरथ काफी प्रयत्नों के बाद  पृथ्वी पर लाये थे और जिन्हें भागीरथी के नाम से भी जाना जाता है । हम गंगा को गंगा देवी और गंगा माँ मानते हैं । जब भागीरथ गंगा को पृथ्वी पर लाये होंगे तो उन्होंने कभी नहीं सोचा होगा की हम इंसान गंगा का वो हाल करेंगे कि गंगा का पानी न पीने लायक रहेगा और न ही नहाने लायक और न ही किसी और काम के लायक । क्योकि आज कल हम इंसानो ने गंगा को बहुत ज्यादा प्रदूषित कर दिया है । वो भी उस गंगा को जिसे हम माँ और देवी मान कर पूजते हैं । आज के समय में गंगा काफी जगहों पर विलुप्त होने की कगार पर हैं और जहाँ गंगा में पानी है वहां इतना प्रदूषित पानी है जिसका हम कोई भी इस्तेमाल नहीं कर सकते |तो आज के समय में सबसे बड़ा सवाल ये है कि     

    जीवनदायिनी गंगा को कौन देगा जीवन ?


Ganga pollution in hindi, ganga in hindi
Ganga pollution in hindi


दोस्तों, हम भारतवासियों के लिए गंगा का काफी धार्मिक महत्व है गंगा हमारे लिए आस्था का प्रतीक है और यही गंगा नदी भारत में काफी लोगों को पानी उपलब्ध करवाती है और आज के समय में वही मोक्ष दिलाने वाली गंगा के अस्तित्व पर सवाल खड़ा हो गया है । दोस्तों, आज के समय में हमारी जीवनदायिनी गंगा को बचाने कोई भागीरथ नहीं आएंगे और न ही कोई और , जो करना है हम लोगो को ही करना है । गंगा के जल को फिर से पहले कि तरह पवित्र और निर्मल बनाना है ।

गंगा में प्रदूषण

गंगा के साथ जो सबसे बड़ी समस्या है वो है प्रदूषण की । गंगा में जो भी दिक्कते आ रही हैं उन सबका का सबसे बड़ा कारण है प्रदूषण इसी की वजह से गंगा का पानी पीने लायक नहीं रहा और न नहाने लायक और न किसी और काम के लायक । हमारी गंगा नदी हमारे भारत की जीवन रेखा है क्योकि ये काफी लोगों को पानी उपलब्ध कराती है पर आज के समय में स्तिथि बहुत खराब होती जा रही है । आज के समय में गंगा में दिन प्रतिदिन काफी कचड़ा गिर रहा है । फैक्ट्री से निकलने वाला कचड़ा, अस्पताल से निकलने वाला waste material , कपडा मिलों से निकलने वाला कचड़ा आदि ये सब गंगा में प्रदूषण बढ़ा रहे हैं । ऐसा नहीं है कि गंगा में प्रदूषण केवल यही लोग बढ़ा रहे हैं । आज के समय में हर इंसान गंगा में प्रदूषण बढ़ा रहा है । आज के समय में हम सबने कभी न कभी तो गंगा में प्रदूषण बढ़ाया ही है अगर हमने गंगा में कभी अगर प्लास्टिक फेंकी है या किसी और तरह का कोई कचड़ा फैलाया है तो हम सब गंगा में प्रदूषण को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं ।
कारखानों से निकलने वाला जहरीला रसायन गंगा में बिना रोक टोक के गंगा में बहा दिया जाता है जिससे कि हमारी गंगा और ज्यादा प्रदूषित होती जा रही है । गंगा में प्रदूषण बढ़ने का जो एक और सबसे बड़ा कारण है वो हमारी धार्मिक मान्यताओं से जुड़ा है । हमारे भारत में ज्यादातर किसी भी शव का दाह संस्कार गंगा किनारे किया जाता है उससे जो अधजले शव होते हैं उन्हें ज्यादातर गंगा में बहा दिया जाता है जिससे कि प्रदूषण बढ़ता है । 

गंगा को प्रदूषण से बचाने के उपाय

  • सबसे पहेली बात हमें गंगा में किसी भी प्रकार की गन्दगी या कूड़ा कचड़ा नहीं फेकना चाहिए । 
  •  गंगा किनारे से औधोगिकरण कम होना चाहिए ।
  • सभी उद्योगों के अपने अपने waste treatment प्लांट होने चाहिए जिससे की हम waste material को कहीं न कहीं इस्तेमाल करने लायक बना सकें ।
  • हमें organic खेती को बढ़ावा देना होगा क्योकि गंगा किनारे जो खेती होती है उसमे pesticides का प्रयोग बहुत ज्यादा होता है  जो बाद में बह कर गंगा में पहुंच जाता है और गंगा को प्रदूषित करता है ।
  • बैराज में जल सीमित मात्रा में होना चाहिए क्योको अगर बैराज में पानी ज्यादा होगा तो पानी का प्रवाह रुकेगा और प्रदूषण बढ़ेगा ।
दोस्तों हमें गंगा को पहले की तरह फिर से पवित्र और शुद्ध बनाना होगा और हमें ये संकल्प लेना चाहिए की हम कभी भी गंगा में किसीभी प्रकार का कचड़ा नहीं फेकेंगे ।
दोस्तों अगर आपके पास गंगा को प्रदूषण से बचाने का कोई उपाय है तो कमेंट करके जरूर बताएं ।


दोस्तों इस बात को हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचना चाहिए जिससे की हर इंसान गंगा को साफ़ करने में अपनी जिम्मेदारी अच्छे से निभाए तो इसलिए इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और संकल्प ले की गंगा में किसी भी प्रकार का कोई कचड़ा नहीं फेंकेंगे ।




Read More

Tuesday, July 16, 2019

Prabhat

ABS kya hota hai aur kaise kaam karta hai | ABS क्या होता है और कैसे काम करता है ?

ABS(Anti lock breaking system) kya hai aur kaise kaam karta hai

हेलो दोस्तों, आज मैं आपको ABS के बारे में बताने जा रहा हूँ । दोस्तों अगर आपको तेज बाइक या तेज कार चलाने का शौक है तो फिर आपको ABS के बारे में जरूर पता होगा । अगर आपको ABS के बारे में नहीं पता है तो  कोई बात नहीं आज मैं इस आर्टिकल में आपको ABS के बारे में सब कुछ बताऊंगा ।
दोस्तों आपने अक्सर देखा होगा की जब भी हम तेज ड्राइविंग करते हैं और अगर अचानक से कोई सामने आ जाए फिर हम जोर से ब्रेक लगाते हैं फिर होता ये है की हमारी गाड़ी अनियंत्रित हो जाती है और फिर संतुलन खो देती है जिसकी वजह से एक्सीडेंट हो जाता है  । आज के समय में इस तरह की घटना दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं । इस तरह के एक्सीडेंट की वजह से रोज न जाने कितने लोगों की जान जाती है । इस तरह के एक्सीडेंट को रोकने के लिए काफी कम्पनियाँ कोशिश करती रहती हैं । ऐसे ही एक्सीडेंट को रोकने के लिए एक टेक्नोलॉजी का आविष्कार किया गया है जिसका नाम है ABS । अब ये ABS क्या है और कैसे काम करता है इस आर्टिकल में मैं आपको ये सब बताऊंगा  ।

ABS kya hai aur kaise kaam karta hai, ABS braking system in hindi
ABS kya hota hai aur kaise kaam karta hai 


ABS  क्या है ?


ABS की फुल फॉर्म होती है  Anti lock braking system.
ABS एक ऐसी टेक्नोलॉजी जिससे हम एक्सीडेंट रोक सकते हैं हैं और जिससे हम safe ड्राइविंग और अच्छा control फील करते हैं । उदहारण देकर मैं आपको समझाता हूँ  जैसे की मान लो आप बहुत तेज स्पीड में कार चला रहे हैं और अचानक से कोई सामने आ जाए तो फिर आप अचानक से ब्रेक लगाएंगे । ब्रेक लगाने के बाद आपकी कार फिसलती हुई दूर तक जाएगी जिससे कि एक्सीडेंट का चांस बढ़ जायेगा और अगर आपकी गाड़ी में ABS लगा होगा तो आप safely कार रोक पाएंगे ।

ABS कैसे काम करता है ?

दोस्तों, अब मैं आपको बताऊंगा कि ABS कैसे काम करता है । ABS कोई component  नहीं है पर इसके काफी component हैं जी कि एक system  में काम करते हैं ।
इस ABS में एक sensor  होता है जो कि हमेशा पहिये कि स्पीड पर focus करता है और फिर speed controller device को data  सेंड करता है । उसके बाद speed controller device  ये चेक करता है कि कार कि स्पीड कम हुई है या नहीं । जब ड्राइवर अचानक से ब्रेक लगाता है फिर स्पीड कम होती है तब speed controller device समझ जाता है कि अभी एक्सीडेंट वाली situation है । ठीक उसके बाद ABS activate हो जाता है । फिर ABS ये जानने कि कोशिश करता है कि कौन सा पहिया धीमा हो रहा है और फिर valve ब्रेक प्रेशर को कम कर देता है ।
उसके बाद फिर पहिये कि स्पीड accelerate होती है और फिर सभी पहियों कि स्पीड same होती है ।कंट्रोलर फिर से पहिये कि स्पीड decelerate कर देता है और फिर स्पीड कम हो जाती है । उसके बाद फिर स्पीड accelerate होती है । इसी तरह acceleration और deceleration होता रहता है एक सेकंड में कम से कम २० बार । इसके अलावा आपको कुछ काम नहीं करना होता है ABS अपना काम अच्छे से करता है । इसके कारण आप बहुत आसानी से अपनी गाड़ी को कण्ट्रोल कर सकते हैं और गाड़ी को safely रोक सकते हैं ।

ABS के फायदे 

ABs का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इससे एक्सीडेंट होने के chance कम हो जाता है ।
इसकी वजह से आप आसानी से अपनी गाड़ी को कण्ट्रोल कर सकते हैं ।
ये टेक्नोलॉजी ज्यादा महंगी भी नहीं है ।
आपकी कार जल्दी फिसलेगी नहीं ।

दोस्तों अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया है तो इसको अभी शेयर करे  और अगर ABs से जुडी कोई और जानकारी आप चाहते हैं तो अभी कमेंट करें ।
Read More

Saturday, July 13, 2019

Prabhat

Hydroponics in hindi | एक तकनीक ..बिना मिट्टी के खेती करने की

Hydroponics in hindi

हेलो दोस्तों, जैसा की आपलोग जानते हैं कि आज के समय में बढ़ती आबादी के कारण खेती के लिए जमीन कि कमी होती जा रही है और यह समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है । इस समस्या के समाधान के लिए एक नयी तकनीक आ चुकी है  जिसका नाम है हाइड्रोपोनिक्स (Hydroponics ) । इस आर्टिकल में हम आपको यह बताएंगे कि हाइड्रोपोनिक्स क्या है ? इस आर्टिकल में हम आपको हाइड्रोपोनिक्स से जुड़ी सारी जानकारी देंगे ।

Hydroponics क्या है  ?

 हाइड्रोपोनिक्स पौधे उगाने कि ऐसी तकनीक है जिसमे कि मिट्टी की आवश्यकता नहीं होती है । इस तकनीक में पौधों को पानी में उगाया जाता है । किसी भी पौधे के विकास के लिए जो सबसे ज्यादा जरुरी चीजें होती हैं वो हैं पोषक तत्त्व (nutrients), पानी (water), रोशनी (light), हवा(air) । अगर हम किसी पौधे को ये सभी चीजें दें तो कोई भी पौधा आसानी से विकास कर सकता है । हाइड्रोपोनिक्स में इसी तकनीक को लेकर चलते हैं इसमें मिट्टी की जरूरत नहीं होती है और सभी जरुरी पोषक तत्त्व पानी में मिला कर पौधों को दिए जाते हैं ।
पौधों के लिए जो सबसे जरुरी पोषक तत्त्व हैं वो हैं नाइट्रोजन (Nitrogen ), फॉस्फोरस (Phosphorus ), पोटाश (Potash ), मैग्नीशियम (Magnesium ), कैल्शियम (Calcium ), सल्फर (Sulphur ), जिंक (Zinc ), और आयरन (Iron ) ये सभी पोषक तत्व एक खास अनुपात के अनुसार पानी के जरिये पौधों को दे दिए जाते हैं ।

hydroponics in hindi, hydroponics farming
Hydroponics in hindi




Hydroponics का इस्तेमाल 

आज के समय में हाइड्रोपोनिक्स  का इस्तेमाल काफी जगहों पर हो रहा है । कई पश्चिमी देशों में फसल उत्पादन के लिए हाइड्रोपोनिक्स तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है यह तकनीक उन जगहों के लिए काफी फायदेमंद है जहाँ शुष्क क्षेत्र है वहां पर हम इस तकनीक के जरिये आसानी से पौधे उगा सकते हैं । आज के समय में कई शहरों में लोग अपने घरों की छत पर या फिर बिल्डिंग की छत पर इस तकनीक के जरिये पौधे उगा रहे हैं , इससे उगने वाली सब्जी बिलकुल शुद्ध होती है । अगर आप चाहे तो आप भी इस तकनीक से पौधे उगा सकते हैं ।

Hydroponics के लाभ 

१.  हाइड्रोपोनिक्स तकनीक से हम सब्जी बगैरह अपने घर पर ही उगा सकते हैं ।
२.  हाइड्रोपोनिक्स तकनीक से बहुत ही कम खर्च पर पौधे , फसलें और सब्जियां उगा सकते हैं ।
३.  इस तकनीक में पौधों के लिए जो जरुरी पोषक तत्त्व होते हैं उन्हें पानी में मिलकर दिए जाते हैं ।
४.  इस तकनीक में पानी भी कम खर्च होता है ।
५.  इस विधि से तैयार किये गए पेड़ पौधों का मिटटी या जमीन से कोई लेना देना नहीं होता है |  इसलिए इनमे              कीटनाशकों का प्रयोग नहीं करना पड़ता जिससे कि हमारी सब्जियां बहुत पौष्टिक रहती हैं ।
६.  इस तकनीक में बहुत कम जगह कि जरुरत होती है ।

Hydroponics में परेशानियां 

हाइड्रोपोनिक्स में जो सबसे ज्यादा परेशानी होती है वो है इसके शुरुआत में होने वाले खर्चे की परेशानी बाद में ये सस्ता पड़ जाता है | इसके अलावा जो परेशानी है वो है हमेशा बिजली बने रहने की क्योकि इसमें बिजली वाले मोटर से पानी आता जाता रहता है जो हमेशा चलते रहना चाहिए और इस तकनीक में सही समय पर सही खनिज डालने होते हैं |





Read More

Monday, July 8, 2019

Prabhat

Virtual Reality in hindi and VR Box

Virtual Reality in hindi 

हेलो दोस्तों आज मैं आपको बहुत ही interesting जानकारी देने जा रहा हूँ  उम्मीद करता हूँ कि आपको पसंद आएगी । दोस्तों क्या आपने कभी वर्चुअल रियलिटी (virtual reality) के बारे में सुना है ?  अगर सुना है तो अच्छी बात है अगर नहीं सुना है तो कोई बात नहीं आज हम आपको  virtual reality के बारे में सबकुछ बताएंगे । इसके साथ साथ हम आपको VR Box के बारे में भी बताएँगे ।

Virtual Reality in hindi, VR Box
Virtual Reality


Virtual Reality क्या है ?
Virtual Reality एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसकी  मदद से हम एक ऐसा आर्टिफीसियल एनवायरनमेंट(artificial environment) तैयार कर लेते हैं जो कि हमें रियल लगता है और हमें ऐसा फील होता है कि हम भी उसी में हैं । जैसे कि हम जब भी कोई 3D मूवी देखते हैं तो हमें ऐसा फील होता है कि हम भी उसी में हैं और हमें सब कुछ रियल लगता है । Virtual Reality का इस्तेमाल हाई विज़ुअल मल्टीमीडिया (High Visual Multimedia ) से सम्बंधित application के लिए किया जाता है वो भी 3D एनवायरनमेंट में ।

अगर आसान शब्दों में कहें तो Virtual reality एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसका  इस्तेमाल एक ऐसी काल्पनिक दुनिया को बनाने के लिए किया जाता है जिसमे कि आपको ऐसा लगता है कि आप भी उसी दुनिया में हो ।

VR Box क्या है ? 
VR Box की सहायता से आप अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल करके आप अपने घर पर ही बिलकुल सिनेमा हॉल जैसा मजा ले सकते हैं । इस VR Box में मोबाइल को कनेक्ट करने के लिए पोर्ट बना होता है हमें उस पोर्ट में मोबाइल को लगाना होता है । अच्छे sound के लिए आप अपने हैडफ़ोन का इस्तेमाल कर सकते हैं । फिर आप अपने घर पर वर्चुअल रियलिटी (Virtual reality )का मजा ले सकते हैं ।



Virtual reality का इस्तेमाल

वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल आजकल हम बहुत जगहों में कर रहे हैं जैसे कि -

1.  Games and Entertainment में दोस्तों आजकल काफी ऐसे गेम्स हैं जिसमे वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी का use होता है जब भी हम उस तरह के गेम्स खेलते हैं तो हमें ऐसा लगता है कि हम भी उसी गेम में हैं । जैसे कि example ले लीजिये कार रेस गेम का अगर हम जब भी वर्चुअल रियलिटी वाला कार रेस गेम खेलते हैं तो हमें ऐसा लगता है कि हम उसी गेम का हिस्सा हैं ।
वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल मूवीज में भी किया जाता है जब भी हम कोई 3D मूवी देखते हैं तो हमें सब कुछ रियल जैसा लगने लगता है ।

2. Education - Virtual Reality का इस्तेमाल education की फील्ड में भी काफी होता है । Virtual Reality का इस्तेमाल करके काफी तरह की ट्रेनिंग दी जाती है जैसे कि अगर स्पेस में जो एस्ट्रोनॉट जाते हैं उनकी ट्रेनिंग वर्चुअल रियलिटी का use करके की जाती है । इसी तरह पैराशूट से कूदने कि ट्रेनिंग , जम्बो जेट को लैंड कराने की ट्रेनिंग इसी तरह और भी काफी तरह कि ट्रेनिंग हैं जो virtual reality का इस्तेमाल करके ट्रेनिंग दी जाती हैं ।

3.  Architecture Design - Architecture की field में भी Virtual Reality का काफी इस्तेमाल होता है आजकल के समय में गाड़ी का डिज़ाइन , एयरोप्लेन का डिज़ाइन और भी चीजों के डिज़ाइन हैं  जो कि Virtual Reality टेक्नोलॉजी की मदद से कंप्यूटर स्क्रीन पर डिज़ाइन बनाये जाते हैं ।

Types Of Virtual Reality 
वर्चुअल रियलिटी के कई प्रकार होते हैं -
1. Fully Impressive .
2. Non Impressive.
3. Collaborative.
4. Web Based.
5. Augmented Reality.

अब हम एक - एक करके सभी Virtual Reality types को explain करेंगे ।

1. Fully Impressive - अगर हम पूर्ण Virtual Experience लेना चाहते हैं तो हमें तीन चीजों की जरुरत पड़ती है । तो इसमें सबसे पहले आता है कंप्यूटर मॉडल या सिमुलेशन (Simulation) जो दूसरी चीज की जरुरत है वो है एक पावरफुल कंप्यूटर जिससे की बहुत आराम से यह पता चल सके की क्या हो रहा है और फिर जैसा जो चल रहा है रियल टाइम में फिर वैसा ही सब एडजस्ट कर सके । जो तीसरी चीज की हमें जरुरत होती है वो है हार्डवेयर की जो कंप्यूटर से जोड़ दिया गया हो जिससे की हम Virtual world में पूरी तरह खो जायें । इसमें हमें हेड माउंटेड डिस्प्ले (Head mounted display), २ स्क्रीन (screen) , स्टीरियो साउंड (Stereo Sound), और एक या उससे अधिक सेंसरी ग्लव्स (sensory gloves) भी पहनना होता है ।

2. Non Impressive. - सभी लोगो को fully  immersive  रियलिटी कि आवश्यकता नहीं होती है इसलिए इसमें रियलिटी पूरी तरह से immersive  नहीं होती है पर उसके आसपास तक होती है इसमें surround system , wide  स्क्रीन, हेडफोन्स और दूसरे कंट्रोल्स का इस्तेमाल होता है ।

3. Collaborative. - 
यह एक ऐसा एनवायरनमेंट है जहाँ कई लोग कई जगह से एक दूसरे के साथ कम्यूनिकेट कर सकते हैं यह लोग अपनी बातों को अपने अनुभव को एक co - operative सेटिंग के जरिये share करते हैं जिसे collaborative virtual कहते हैं ।

4. Web Based. - पहले के टाइम में वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी सबसे ज्यादा तरक्की करने वाली टेक्नोलॉजी थी यही कोई 1990  के टाइम के आसपास  पर  WWW (world wide web) के आने पर इसकी तरक्की धीमी हो गयी लेकिन computer scientist  ने वेब पर वर्चुअल दुनिया बनाने का तरीका ढूंढ लिया था पर वो ज्यादा चल नहीं सका ।

5. Augmented Reality. - Augmented Reality  का इस्तेमाल सब कुछ real type दिखाने के लिए होता है इसमें हम image , information  और साउंड को इस तरह एनवायरनमेंट में डिजिटल तरीके से मिलाते हैं कि सबकुछ रियल जैसा लगे । इसमें एक तरीके से ऐसा भ्रम पैदा कर देते हैं कि जिससे सब रियल लगे ।







Read More

Sunday, July 7, 2019

Prabhat

meesho app se paise kaise kamaye in hindi

Meesho Application से घर बैठे पैसे कमायें ।


हेलो दोस्तों, जैसा की आप लोग जानते हैं कि आज के समय में किसी भी बिज़नेस को स्टार्ट करना कितना मुश्किल है और किसी भी बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए पैसों की भी जरुरत पड़ती है और बहुत मेहनत भी लगती है   । आज मैं आपके लिए पैसा कमाने का एक ऐसा बिज़नेस आईडिया लेकर आया हूँ जिसमे  कि आपको कोई भी पैसा लगाने की कोई जरुरत नहीं है आप बिना पैसा लगाए भी बिज़नेस कर सकते हैं । यह  बिज़नेस है Reselling  का । Reselling  का मतलब है किसी और के सामान को कहीं और बेचना उसमे फिर आपको कमीशन मिलता है । यह Reselling  का बिज़नेस आप घर बैठे कर सकते हैं वो भी बिना पैसा लगाए आपको इसमें एक भी रूपया लगाने की कोई जरुरत नहीं है ।
यह Reselling का बिज़नेस आप Meesho एप्लीकेशन के जरिये कर सकते हैं ।

Meesho app se paise kaise kamaye in hindi, meesho app kya hai in hindi
Meesho app se paise kaise kamaye in hindi


Meesho एप्लीकेशन क्या है ?
हेलो दोस्तों, मीशो एक Product  Reselling app  है जिसमें कि बहुत सारे wholeseller अपने प्रोडक्ट को list करके रखते हैं फिर हम उन प्रोडक्ट को resell कर सकते हैं वो भी अपने हिसाब से अपना मार्जिन जोड़ करके । इसमें आपको एक भी रुपया लगाने की कोई जरूरत नहीं है और न ही किसी दुकान की जरुरत है और न ही गोदाम कि आप बस application  डाउनलोड कीजिये और अपना Reselling का बिज़नेस शुरू  कर दीजिये ।

Meesho एप्लीकेशन डाउनलोड कैसे करें ?

हेलो दोस्तों MEESHO  एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए नीचे LINK पर क्लिक कीजिये ।

Download Meesho application

Meesho एप्लीकेशन डाउनलोड करने के बाद यह Refferal code जरूर डाले :-

Refferal code   -  PRABHAT738


यह Refferal code जरूर डाले इस Refferal code को डालने के बाद आपको पहले ऑर्डर पर 30% डिस्काउंट मिल जाएगा अगर आप बिना Refferal code के आगे बढ़ेंगे तो फिर आपको डिस्काउंट नहीं मिलेगा ।

Meesho Application से पैसा कैसे कमायें ?
Meesho ke product को आप अपने सोशल मीडिया एकाउंट्स के द्वारा बेच सकते हो जैसे कि फेसबुक (facebook), व्हाट्सप्प (whatsapp) , इंस्टाग्राम (instagram) आदि ।  Meesho के प्रोडक्ट को बेचने के लिए सबसे पहले आपको प्रोडक्ट की फोटो और प्रोडक्ट की detail आपको अपने फेसबुक व्हाट्सप्प और इंस्टाग्राम पर शेयर करनी होगी और आप price में अपना मार्जिन (margin) जोड़ कर price लिखना । इसके अलावा आप जितने भी सोशल मीडिया एकाउंट्स use कर रहे हैं सब पर ये शेयर कीजिये फिर जिसे भी वो प्रोडक्ट पसंद आएगा  वो आपको उसी सोशल मीडिया अकाउंट के जरिये आपसे कांटेक्ट करेगा फिर आप उससे बात करके उसकी डिटेल लेकर उसका product बुक कर दीजिये ।
इस एप्लीकेशन की सबसे खास बात ये है कि आपको इसके अलावा कुछ भी नहीं करना होगा फिर मीशो वाले खुद प्रोडक्ट उस कस्टमर तक पहुंचाएंगे और फिर खुद ही वो कस्टमर से पैसे लेंगे और सबसे बड़ी बात उस कस्टमर को मीशो के बारे में कुछ भी पता नहीं चलेगा । जब कस्टमर वह प्रोडक्ट खरीद लेगा  फिर  return period time खत्म होने के बाद मीशो वाले आपका मार्जिन (आपके पैसे) आपके अकाउंट में डाल देंगे । अगर कस्टमर ने वो प्रोडक्ट वापस कर दिया return  time में फिर आपको कुछ नहीं मिलेगा क्योकि कस्टमर ने तो वो प्रोडक्ट लिया ही नहीं है अगर वो वापस नहीं करता है तो फिर आपको आपका पैसा मिल जायेगा ।
दोस्तों अगर कोई कस्टमर कोई प्रोडक्ट वापस करना चाहता है तो फिर आपको उस कस्टमर की return  request डालनी  होगी फिर जब डिलीवरी बॉय कस्टमर के  पास से प्रोडक्ट वापस ले जायेगा फिर आपके अकाउंट में उस प्रोडक्ट के पैसे आ जायेंगे । फिर आपको वो पैसे आपके कस्टमर के अकाउंट में ट्रांसफर कर देने हैं
 अगर आपको मीशो से जुड़ी कोई भी समस्या हो तो आप इनके कस्टमर केयर पर भी कॉल कर सकते हैं वहां आपकी पूरी सहायता की जाएगी ।

Meesho  की सबसे खास बात ये है कि मीसो वाले आपका पैसा बिलकुल सही समय पर आपके अकाउंट में डाल देते हैं ।

MEESHO APPLICATION DOWNLOAD LINK यहाँ से मीशो एप्लीकेशन डाउनलोड करें ।

REFERRAL CODE   -   PRABHAT738 

दोस्तों अगर आपको इससे जुड़ी और कोई जानकारी चाहिए हो तो आप कमेंट में पूछ सकते हैं ।


धन्यवाद ।





Read More

Friday, July 5, 2019

Prabhat

Online PF kaise nikale | ऑनलाइन PF कैसे निकालें

Online PF kaise nikale

हेलो दोस्तों पहले के समय में लोग PF नहीं  कटवाना चाहते थे बल्कि वो PF के फायदे जानते थे तब भी लोग PF कटवाने से कतराते थे । ऐसा इसलिए था क्योकि पहले के समय में PF निकालने  का जो तरीका था उसमे बहुत समय लग जाता था । लोगों को बार बार अपने ऑफिस के चक्कर लगाने पड़ते थे । ये सब करने में बहुत समय लग जाता था । पहले के समय में कभी-कभी एक महीने से ज्यादा का समय PF निकालने में लग जाता था । यही वजह थी जिससे कि लोग PF कटवाने से कतराते थे पर आज के समय में PF निकालने का तरीका बिलकुल बदल चुका  है । आज हम PF ऑनलाइन निकाल  सकते हैं मेरा मतलब है इंटरनेट के माध्यम से आज हम PF निकाल  सकते हैं । अगर आज के समय में हमें अगर PF निकालना हो तो हमें बार बार ऑफिस जाने की जरुरत नहीं है और हम बहुत ही आसानी से ऑनलाइन PF निकाल सकते हैं । दोस्तों आज के आर्टिकल में मैं आपको ऑनलाइन PF निकालना बताऊंगा कि अगर हमें ऑनलाइन PF निकालना हो तो किस तरह निकालेंगे ।


Online PF kaise nikale, PF online hindi me
Online PF kaise nikale


 Online PF

 दोस्तों अक्सर आपने देखा होगा कि जब भी कोई कर्मचारी किसी कम्पनी से इस्तीफा देता है तो सबसे पहले वह अपने PF के बारे में सोचता है । उस समय उस कर्मचारी के दिमाग में PF से जुड़े काफी सवाल घूमते हैं कि PF कैसे निकालें । दोस्तों ऑफलाइन PF में यह होता था कि हमें अपनी कंपनी के HR के पास बार बार जाना होता था PF के लिए लेकिन अगर हम ऑनलाइन PF निकालेंगे तो हमें बार बार कंपनी जाने की कोई जरुरत नहीं है ।
ऑनलाइन PF में हमें कुछ condition  में  HR से contact करना पड़ सकता है जैसे की अगर हमारे PF में अगर कोई जानकारी (information) गलत है तो उसे सही कराने के लिए हमें अपनी कंपनी के HR के पास जाना पड़ सकता है । अगर आपके PF  में सारी जानकारी सही हैं तो कंपनी के HR  के पास जाने की कोई जरुरत नहीं है । फिर आप बहुत ही आसानी से PF  निकाल सकते हैं ।
अब मैं आपको एक ख़ास जानकारी देना चाहूंगा की अगर आपको PF के पैसो की कोई इमरजेंसी हो तभी निकालें अगर इमरजेंसी न हो तो न निकालें क्योकि PF के पैसो पर हमें अच्छा ब्याज मिलता है किसी बैंक से भी ज्यादा अच्छा ।

Online PF  निकालने  की कुछ शर्तें


  • अगर आप ऑनलाइन PF निकालना  चाहते हैं  तो सबसे पहले आपका  UAN  नंबर  activate  होना चाहिए ।
  • दूसरी सबसे बड़ी बात यह है की आपके पास रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर  होना चाहिए जो आपके UAN में रजिस्टर्ड हो ।
  • आपके PF  अकाउंट में जोइनिंग डेट (joining date )  और एग्जिट डेट (exit date) भी डली होनी चाहिए अगर आपके PF अकाउंट में जोइनिंग और एग्जिट डेट नहीं है तो  आपको अपनी कंपनी के HR के पास जाकर ये इनफार्मेशन अपडेट करवानी पड़ेगी ।
  • आपके  PF account में आधार कार्ड, PAN कार्ड  और बैंक अकाउंट जुड़ा होना चाहिए अगर ये सब आपके PF  अकाउंट से जुड़े हैं तो आप PF के लिए अप्लाई कर सकते हैं ।
  • अगर ये सब आपके अकाउंट में नहीं जुड़े हैं तो सबसे पहले अपने PF  अकाउंट की KYC कर लें ।
  • आप कंपनी छोड़ने के ४५ दिन बाद ही PF  के लिए अप्लाई कर सकते हैं  और अगर आप कंपनी में काम करते हुए अपना PF निकालना चाहते हैं तो फर आप PF का कुछ हिस्सा ही निकाल सकते हैं पूरा PF आप कंपनी छोड़ने के बाद ही निकाल सकते हैं ।
  • उसके बाद ही आप ऑनलाइन PF  के लिए अप्लाई कर सकते हैं ।

Online PF निकालने के लिए कैसे अप्लाई करे ?

  • सबसे पहले आपको UAN  पोर्टल पर जाना होगा । UAN पोर्टल पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें
  • फिर आपको अपना UAN activate करना होगा । UAN activate करने के लिए यहाँ क्लिक करें
  • UAN activate करने के बाद आपको एक पासवर्ड मिल जायेगा फिर आपको अपने UAN और पासवर्ड की मदद से UAN  पोर्टल पर login करना होगा । अपने UAN  पोर्टल पर login करने के लिए यहाँ क्लिक करें
  • फिर आपको चेक करना होगा की आपके PF अकाउंट में KYC है या नहीं अगर नहीं है तो सबसे पहले KYC कर लें ।
  • KYC  करवाने के बाद आपको चेक करना होगा की आपके PF अकाउंट में जोइनिंग डेट (joining date) और एग्जिट डेट (Exit Date) डली हुई है या नहीं । जोइनिंग और एग्जिट डेट चेक करने के लिए पहले आपको VIEW  पर जाना होगा फिर सर्विस हिस्ट्री में जाना होगा और फिर वहां पर चेक कर लें ।
  • फिर आपको ऑनलाइन सर्विसेज में जाना होगा और फिर आपको वहां पर अपने PF के लिए क्लेम करना होगा । अगर आप जॉब छोड़ चुके हैं  और आप पूरा PF का पैसा निकलना चाहते हैं तो फॉर्म नंबर 19 और 10 भरिये और अगर आप अभी जॉब कर रहे हैं और PF का कुछ पैसा निकलना चाहते हैं तो फॉर्म नंबर 31 भरिये फिर कुछ दिन में आपका पैसा आपको मिल जायेगा ।
  • फिर आप अपना क्लेम ऑनलाइन सर्विसेज (online services) में ट्रैक क्लेम स्टेटस  (Track claim status ) में चेक कर सकते हैं ।

Online PF निकालने के फायदे 
  • सबसे बड़ा फायदा ये है ऑनलाइन PF का कि आपको किसी से signature  करवाने कि जरुरत नहीं है ।
  •  इसके अलावा ये भी फायदा है कि आपको बार बार कंपनी जाने कि जरुरत नहीं है ।
  • तीसरा सबसे बड़ा फायदा ये है कि आप घर बैठे PF निकाल सकते हैं ।
  • सबसे बड़ी बात ये है कि इस से  आपको किसी भी तरह कि कोई प्रॉब्लम फेस नहीं करनी पड़ेगी और आप अपना  PF का पैसा बहुत ही आसानी से निकाल सकते हैं ।






Read More